Thursday 18 September 2008

आशा नहीं लता/चुलबुला-सा गीत/टैक्सी ड्राइवर/एसडी बर्मन/साहिर

१९५४ की नवकेतन की फिल्म । देवानन्द , कल्पना कार्तिक ,शीला रमानी , जॉनी वॉकर ।

दिल से मिला के दिल ,प्यार कीजिए
कोई सुहाना इक़रार कीजिए

शरमाना कैसा ,घबड़ाना कैसा
जीने से पहले , मर जाना कैसा
फ़ासलों की छाँव में ,
रस भरी फ़िज़ाओं में
इस जिन्दगी को गुलज़ार कीजिए

आती बहारें , जाती बहारें
कब से खड़ी हैं , बाँधे कतारे
छा रही है बेखुदी
कह रही है ज़िन्दगी
दिल की उमंगे बेदाद कीजिए


दिल से भुला के ,रुसवाइयों को
जन्नत बना लें , तनहाइयों को
आरज़ू जवान है
वक़्त महरबान है
दिल खो न जाये , खुशी यार कीजिये,दिल से...



डाउनलोड करें

3 comments:

  1. अनसुना गीत , कितना अनोखा,कितना चुलबुला, कितना शोख!!

    वह भी लता की आवाज़ में ?

    शुक्रिया...

    ReplyDelete

पसन्द - नापसन्द का इज़हार करें , बल मिलेगा ।