Wednesday 1 July 2009

रफ़ी और अनेक



विविध भारती से कभी एक कार्यक्रम प्रसारित होता था - ’एक और अनेक’ । आज उसी कार्यक्रम की याद में मोहम्मद रफ़ी के साथ विभिन्न गायिकाओं के दोगाने हैं ।

No comments:

Post a Comment

पसन्द - नापसन्द का इज़हार करें , बल मिलेगा ।