Saturday 23 January 2010

नामालूम तरीके से नहीं आता है वसंतोत्सव

'वसंतोत्सव’ पर इस पोस्ट के साथ कविता का पाठ लगाना था । वर्डप्रेस में संभव नहीं हुआ । इसलिए यहाँ :

2 comments:

पसन्द - नापसन्द का इज़हार करें , बल मिलेगा ।